The Harvest Festival

Vaisakhi , a sikh festival cum New Year celebrated by Sikh Community throughout India and all over the world.

Advertisements

सिंधीयों को उनकी कुर्बानी का क्या सिला मिला । लेखक-संजय वर्मा

The pain of the community is barely understood by others as people tend to notice only the opulent few.

Empowerment of Sindhi's

चेटीचंड अब एक धार्मिक उत्सव ही नहीं ,सिंधु संस्कृति और अस्मिता का प्रतीक पर्व भी है ! लाजमी है कि आज के दिन देश को सिंधियों की कुर्बानी को जानने समझने की कोशिश करना चाहिए ।

उन्होनें कोई सवाल नहीं पूछा… ! ये भी नहीं , कि जिस सफर पर उन्हें भेजा जा रहा है , उसकी मंजिल कहाँ है । वे बस उठे , और चल दिये । ताकि आपकी आजादी की लड़ाई का आखिरी पन्ना लिखा जा सके । वे बस चल दिये, अपने खेत-मकान, जमीन-जायदाद अपने मंदिरों, पीरों-फकीरों ,अपने गली चैबारों ,अपनी नदियों ,अपने सहराओं को छोड़कर । वे जानते थे कि ये एक मुश्किल सफर होने वाला है और सफर में वे बस उतना ही समान अपने साथ रखना चाहते थे जितना जिंदा रहने के लिये जरूरी हो । अपनी किताबे अपनें गीत, लोरियाॅ, संगीत, बाजे सबकुछ जैसे एक ‘एक्स्ट्रा बैगेज‘ था इस सफर मे ।…

View original post 2,003 more words

ULVEENA :A farewell

In a love filled cocoon. The family that’s a boon. All besides her time and again. Ulveena smiles looking at them. She watched over them always. She’ll watch over them always. Life is but a breathing space. Today’s being leaves no trace. The liberty that she seeks alone. How we wish she has a clone. I hug you from a distance of miles. Dear Ulveena you gave us smiles . Wishing you a smooth move. The heart shall cry till we meet.