मेरी सखी

  प्यारी बिन्दू कल रात तुम आई सपने में मेरेमेरे ह्रदय के थे खिल उठे कपोलेतुम्हारे बालों में कान के पीछे वह फूलजामुनी और नारंगी वह फूलकितनी सुन्दर दिख रही थी तुमहम दोनों ने बाँहों में बाँहें पकड़बहुत देर तक एक साथ डाँस कियाडेरों बातों का ख़ज़ाना था खोलाऔर सब से अच्छी बात यह थीकि … Continue reading मेरी सखी

STIGMA

. Meera and her Guru: Meera had aspired to be a great artist and rightfully so, she did gain the status of being one. The journey which began as a music enthusiast converted her from a listener to a learner moving ahead to become a music teacher and now a composer. Deepshikha Roy not only … Continue reading STIGMA