दशानन!

Ravan effigy at Shri Sanatan Dharam Sabha grounds in Nairobi: Dusshera 2022

विजय दिवस की आई दशमी

राम कथा की हर घर कथनी ।

दस दस पाठ पढ़ कर भी

पंडित न जाने जाते हो।

वेदों पुराणों के ज्ञाता हो कर भी

अहंकारी जाने जाते हो।

स्वर्ण महल तुम्हारी लंका का

भस्म कर गया वानर देव।

ऐ रावण धन्यवाद तुम्हारा

हम राम नाम को जपते है ।

तुम न होते तो हम न जानते

अहंकार बुद्धी भ्रमित करता है ।

तुम हुए तो जग ने जाना

पर नारी से मोह न करना।

तुम हुए तो सब ने समझा

हर बुराई अंधकार प्रतीक है ।

तुम से ही यह पाठ मिला है

सच्चाई की विजय भली है ।

सिकीलधी

10 thoughts on “दशानन!

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s