जन्मदिन

Happy-birthday-to-you
birthday greetings

खुशीयॉं मनाई हैं जी भर कर
जन्मदिन मनाया सज सँवर कर
ह्रदय प्रफुल्लित हुआ सा जाए
तोहफ़े देख मन हर्षित हो जाए
जी चाहता चलो पार्टी हो जाए

है एक उत्साह कि बड़े हुए हम
वर्षों की गिनती में आगे बढ़े हम
मगर न समझा, मगर न जाना
यह जन्मदिन तो बस है एक बहाना
बढ़ती गिनती से है ख़ुद को घटाना

दिन दिन जीवन ज्यों आगे बढ़ता
हर दिन और भी है एक दिन घटता
इस बढ़ती जीवन की बगिया में
हर क्षण है जीवन काल कुछ घटता
हर वक़्त अपना है वक़्त निकलता

कुछ ऐसी ही है आयु की सभ्यता
हर जन्मा बालक है रोता हुआ आता
परिवार जनों का मन ख़ुश हुआ जाता
खेल खेलता हर क्षण यह विधाता
अन्त में हर कोई रोता रुलाता जाता
सिकीलधी

Advertisements

2 thoughts on “जन्मदिन

  1. मगर न समझा, मगर न जाना
    यह जन्मदिन तो बस है एक बहाना…..
    bahut hi khubsurati se likha hai……..pratyek khushi apne hone ka ahshaas dilaati hai……saath hi ye bhi ki ek din ye khushi dhundhli ho jaayegi jab nayee khushi aayegi……ham aise hi ek din shayad es duniyan ki dhundhli khushiyon ko chhod nayee khushi ki talash men naye jishm rupi kapde badalne nikal padte hain……….

    jab aate hain to ham rote hain log hanste hain,
    aur jaate hain to log rote hain………bunde to meri bhi aankhon men hoti hai….magar un bundon ki hakikat kaun jaane.

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s